गोलीय दर्पण किसे कहते हैं free pdf

83 / 100

गोलीय दर्पण किसे कहते हैं ? ये कितने प्रकार के होते हैं ? प्रत्येक के उपयोग लिखिए।

What is spherical mirror ? How many types ? Write the uses of each.
गोलीय दर्पण किसे कहते हैं ? ये कितने प्रकार के होते हैं ? प्रत्येक के उपयोग लिखिए।

उत्तर : गोलीय दर्पण(spherical mirror)-“वे दर्पण, जो काँच के खोखले गोले के कटे भाग होते हैं गोलीय दर्पण कहलाते हैं।” गोलीय दर्पण बनाने के लिए काँच के खोखले पतले गोले के एक भाग को काटकर उसके एक तल पर चाँदी अथवा पारे तथा टिन के सम्मिश्रण की कलई करके उसके ऊपर लाल ऑक्साइड का लेप कर दिया जाता है इससे इनका दूसरा तल, परावर्तक तल बन जाता है।

गोलीय दर्पण के प्रकार-गोलीय दर्पण दो प्रकार के होते हैं
1- अवतल दर्पण-वे दर्पण, जिनमें उभरे हुए तल पर कलई होती है तथा दबे हुए तल से परावर्तन होता है, अवतल दर्पण कहलाते हैं । चित्र 8.1 (a)

गोलीय दर्पण किसे कहते हैं
गोलीय दर्पण किसे कहते हैं

अवतल दर्पण के उपयोग-इसके निम्नलिखित उपयोग हैं
(1) अधिक फोकस दूरी तथा बड़ेद्वारक* का अवतल दर्पण हजामतबनाने के काम आता है। चेहरे को दर्पण के ध्रुव तथा फोकस के बीच रखने से छोटे-छोटे बाल बड़े दिखाई देते हैं
(2) छोटे अवतल दर्पण द्वारा प्रकाश की किरणों को परावर्तित करके डॉक्टर आँख,दाँत, गले इत्यादि का निरीक्षण करते हैं।
(3) टेबिल लैम्पों के शेडों में अवतल दर्पण लगाने से थोड़े स्थानको अधिक प्रकाशित किया जा सकता है ।
(4) रेलगाड़ी के इंजनों, मोटरकारों, स्टीमरों तथा सर्चलाइट के लैम्पों को अवतल दर्पण के फोकस पर रखकर समान्तर किरण पुंज प्राप्त किया जाता है,जो कि बहुत दूर तक वस्तुओं को प्रकाशित करता है।

2-उत्तल दर्पण– वे दर्पण, जिनमें दबे हुए तल पर कलई होती है तथा उभरे हुए तल से परावर्तन होता है, उत्तल दर्पण कहलाते हैं । चित्र 8.1 (b)

 गोलीय दर्पण किसे कहते हैं free pdf
गोलीय दर्पण किसे कहते हैं

उत्तल दर्पण के उपयोग इसके निम्नलिखित उपयोग हैं
(1) बाजारों व गलियों में लगे लैम्पों का प्रकाश उत्तल दर्पण से परावर्तित होकर अपसारी (फैलते हुए) किरण पुंज के रूप में सड़क के बड़े क्षेत्र को प्रकाशित करता है।
(2) ट्रकों,बसों और मोटरकारों में ड्राइवर की सीट के पास उत्तल दर्पण लगा रहता है,जिससे ड्राइवर अपने पीछे के बड़े दृष्टि-क्षेत्र में आने वाली वस्तुओं को देख सकता है।

गोलीय दर्पण के लिए निम्नलिखित की परिभाषा दीजिए
(i) दर्पण का ध्रुव (ii) मुख्य अक्ष, (iii) वक्रता त्रिज्या, (iv) वक्रता केन्द्र,
(v) मुख्य फोकस (vi) फोकस दूरी, (vii) फोकस तल।

गोलीय दर्पण किसे कहते हैं free pdf
गोलीय दर्पण किसे कहते हैं

(i) दर्पण का ध्रुव-गोलीय दर्पण के परावर्तक तल के मध्य-बिन्दु को दर्पण का ध्रुव कहते हैं । चित्र 8.2 में P दर्पण का ध्रुव है।
(ii) मुख्य अक्ष-दर्पण के ध्रुव व वक्रता केन्द्र को मिलाने वाली रेखा दर्पण की मुख्य अक्ष कहलाती है । चित्र 8.2 में PC, दर्पण की मुख्य अक्ष है।
(iii) वक्रता त्रिज्या-गोलीय दर्पण काँच के जिस गोले का भाग होता है उसकी त्रिज्या को दर्पण की वक्रता त्रिज्या कहते हैं । चित्र 8.2 में PC अथवा MC,दर्पण की वक्रता त्रिज्या है।
(iv) वक्रता केन्द्र-गोलीय दर्पण काँच के जिस खोखले गोले का भाग होता है, उस गोले के केन्द्र को दर्पण का वक्रता केन्द्र कहते हैं । यह अवतल दर्पण में परावर्तक तल की ओर तथा उत्तल दर्पण में परावर्तक तल के दूसरी ओर होता है। चित्र 8.2 में C, दर्पण का वक्रता केन्द्र है।
(v) मुख्य फोकस-गोलीय दर्पण पर मुख्य अक्ष के समान्तर चलने वाली प्रकाश की किरणें,दर्पण से परावर्तन के पश्चात मुख्य अक्ष के जिस बिन्दु पर या तो वास्तव में मिलती हैं या मिलती हुई प्रतीत होती हैं उस बिन्दु F को दर्पण का मुख्य फोकस कहते हैं । अवतल दर्पण से परावर्तन के पश्चात प्रकाश की किरणें वास्तव में फोकस F पर मिलती हैं
[चित्र 8.3 (a)], जबकि उत्तल दर्पण से परावर्तन के पश्चात ये किरणें फोकस बिन्दु F से आती हुई प्रतीत होती हैं [चित्र 8.3 (b)] । इसी कारण से अवतल दर्पण का फोकस वास्तविक और उत्तल दर्पण का फोकस आभासी होता है।

गोलीय दर्पण किसे कहते हैं
गोलीय दर्पण किसे कहते हैं


(vi)फोकस दूरी-गोलीय दर्पण के ध्रुव तथा मुख्य फोकस के बीच की दूरी को उस दर्पण की फोकस दूरी कहते हैं । यदि दर्पण की वक्रता त्रिज्या R है, तो
दर्पण की फोकस दूरी f=r/2
(vii)फोकस तल–फोकस बिन्दु से होकर जाने वाले तथा मुख्य अक्ष के लम्बवत तल को फोकस तल कहते हैं ।

Important questions………….

What is motion ? click here
What is wave motion ? click here
What is Periodic Motion ? click here
What is Time Period ? click here
What is Displacement ? click here
What is vibration ? click here
What is Oscillatory Motion ? click here
what is acceleration ? click here
what is speed ? click here
what is velocity ? click here