घर्षण क्या है | what is Frictional force

84 / 100

घर्षण क्या है | what is Frictional force

घर्षण क्या है
घर्षण क्या है

प्रश्न 15. घर्षण क्या है |? घर्षण कितने प्रकार के होते हैं ? घर्षण क्यों उत्पन्न होता है ? घर्षण से होने वाले लाभ तथा हानियाँ बताइए।

घर्षण क्या है ? घर्षण बल क्या है

जन एक वस्तु किसी दूसरी वस्तु की सतह पर खिसकती अथवा लुढ़कती है, तो उनके बीच एक बल उत्पन्न होता है जो उनके बीच आपेक्षिक गति का विरोध करता है । यह बल ही घर्षण बल कहलाता है । इस क्रिया को है घर्षण कहते हैं । इसकी दिशा सदैव वस्तु की गति की दिशा के विपरीत होती है

जैसे—धरातल पर लुढ़कती गेंद,गति के विपरीत दिशा में लगने वाले घर्षण बल के कारण ही कुछ दूर चलकर रुक जाती है ।

घर्षण क्यों उत्पन्न होता है ?

यदि हम ध्यान से सड़क,मेज,कैरम बोर्ड आदि की सतह को देखें तो हमें ज्ञात होगा कि इनकी सतह चिकनी तथा सपाट नहीं होती बल्कि उसमें छोटे-छोटे गड्ढे तथा उभार होते हैं जिसके कारण वस्तु आसानी से गति नहीं कर पाती है । इस प्रकार घर्षण का मुख्य कारण वस्तुओं की सतह का खुरदरा होना है ।

घर्षण क्या है

घर्षण के लाभ

इसके निम्नलिखित लाभ हैं :-
(1) घर्षण बल हमे सड़क पर फिसलने से बचाता है जिससे हम सुविधापूर्वक चल सकते हैं ।
(2) मोटरकार, साइकिल आदि के टायर घर्षण बढ़ाने के लिए खुरदरे बनाए जाते हैं ,क्योंकि खुरदरे होने पर ब्रेक लगाकर वाहनों को रोकना सरल होता है । यदि टायर घिसे हैं, तो वे कम घर्षण के कारण अनियन्त्रित हो जाते हैं।
(3) घर्षण की उपस्थिति के कारण ही ब्रेकों का प्रयोग कर वाहनों को रोकना सम्भव है।
(4) घर्षण बल के कारण पेन द्वारा लिखना, रस्सी बनाना, माचिस का जलना, दीवार में कील ठोकना आदि सभी कार्य सम्भव हैं।

घर्षण के हानि

इससे निम्नलिखित हानियाँ हैं :-
(1) घर्षण के कारण ही मशीनों को दी गई ऊर्जा का काफी भाग व्यर्थ चला जाता है जिसके कारण इनकी दक्षता घट जाती है।
(2) घर्षण के कारण ही मशीनों के पुर्जे घिसकर नष्ट हो जाते हैं।
(3) घर्षण के कारण उत्पन्न ऊष्मा मशीनों को हानि पहुँचाती है । अतः मशीनों में तेल डालकर घर्षण कम करने का प्रयास किया जाता है
(4) घर्षण के कारण ही वाहनों की गति कम हो जाती है जिसके कारण ईंधन अधिक खर्च होता है।

प्रश्न- घर्षण कितने प्रकार के होते हैं ? स्पष्ट कीजिए।

उत्तर : घर्षण चार का प्रकार होता है :-
(i) स्थैतिक घर्षण
ii) गतिक घर्षण
(iii) Sliding Friction
(iv) लोटनिक घर्षण

(i) स्थैतिक घर्षण (Static Friction) – जब एक वस्तु दूसरी वस्तु के तल के ऊपर फिसलने वाली होती है, तो उन वस्तुओं के तलों के बीच के घर्षण बल को स्थैतिक घर्षण बल कहते हैं।

(ii) गतिक घर्षण (Dynamic Friction) – जब वस्तु एक बार फिसलना प्रारम्भ कर देती है तो वस्तु को एकसमान गति की रखने के लिए अपेक्षाकृत कम बल की आवश्यकता होती है। इसका अर्थ है कि गति की अवस्था में तलों के बीच घर्षण-बल भी अपेक्षाकृत कम होता है, इस घर्षण को गतिक घर्षण कहते हैं। गतिक घर्षण का मान सदैव स्थैतिक घर्षण से कम होता है

(iii) सर्पी घर्षण (Sliding Friction) – जब एक वस्तु दूसरी वस्तु के ऊपर फिसलती है तो उनके सम्पर्क तल के समान्तर घर्षण को Sliding Friction कहते हैं । यह घर्षण तलों के खुरदरेपन के कारण उत्पन्न होता है।

(iv) लोटनिक घर्षण (Rolling Friction) – जब कोई गोल वस्तु, जैसे पहिया किसी तल पर लुढ़कता है, उसकी परिधि का प्रत्येक भाग बारी-बारी से तल के सम्पर्क में आता है। इस स्थिति में पहिए तथा तल के बीच के घर्षण को लोटनिक कहते हैं जब हम साइकिल को रेत में चलाते हैं तो इस घर्षण का असल होता है।

Physics Important Question

प्रश्न1- जड़त्व किसे कहते हैं ? जड़त्व कितने प्रकार के होते हैं? उदाहरण देकर समझाइए।

प्रश्न2- तरंगाग्र किसे कहते हैं? हाइगेन्स के द्वितीयक तरंगिकाओं का सिद्धान्त लिखिए।

प्रश्न3- अदिश राशियाँ (Scalar Quantities) क्या है? सदिश राशियाँ Vector Quantities) क्या है? इस क्या अन्तर होती हैं

प्रश्न4 – दूरी तथा विस्थापन से क्या तात्पर्य है ? ये कैसी राशियाँ हैं? इनके मात्रक भी लिखिए।दूरी तथा विस्थापन में क्या अन्तर है ? उदाहरण देकर स्पष्ट कीजिए।

प्रश्न5- प्रकाश के व्यतिकरण से क्या तात्पर्य है?| इसके लिए आवश्यक प्रतिबन्ध क्या हैं? (2011, 12, 13, 14, 15, 16, 19)

प्रश्न6- बन्धन ऊर्जा वक्र बनाइए तथा इसके आधार पर निम्नलिखित को स्पष्ट कीजिए:
(i) नाभिकीय विखण्डन,
(ii) नाभिकीय संलयन (2019, 20)

  • तरंगाग्र किसे कहते हैं?
  • घर्षण क्या है,घर्षण क्या है,घर्षण क्या है