82 / 100

विशिष्ट प्रतिरोध की परिभाषा दीजिए &मात्रक बताइए

विशिष्ट प्रतिरोध की परिभाषा

प्रश्न – विशिष्ट प्रतिरोध की परिभाषा दीजिए तथा मात्रक बताइए। विशिष्ट प्रतिरोध तथा विशिष्ट वैद्युत-चालकता में क्या सम्बन्ध है?
या
विशिष्ट प्रतिरोध की परिभाषा लिखिए। (2014, 15)

उत्तर- विशिष्ट प्रतिरोध–“किसी धारावाही चालक के अन्दर किसी बिन्दु पर वैद्युत-क्षेत्र की तीव्रता E तथा उस बिन्दु पर धारा घनत्व j के अनुपात को चालक का विशिष्ट प्रतिरोध कहते हैं।”
विशिष्ट प्रतिरोध, p=E/j ………. (1)
माना कि किसी चालक की लम्बाई l है तथा अनुप्रस्थ-काट का क्षेत्रफल A है माना कि इसके तारों पर विभवान्तर V लगाने पर इसमें स्थायी धारा i बहती है तब तार के किसी बिन्दु पर

वैद्युत-क्षेत्र की तीव्रता E= V/l तथा धारा-घनत्व j = i/A
ये मान समीकरण (1) में रखने पर ρ= (V/l)/(i/A)=VA/il
परन्तु ओम के नियम से, (V/i) = चालक का प्रतिरोध = R
ρ=R(A/l) …………..(2)
अब यदि l = 1 मीटर, A = 1 मीटर² तो
ρ={(R ओम)×(1 मीटर²)}/1मीटर
= Rओम-मीटर
अतः “किसी पदार्थ का विशिष्ट प्रतिरोध उस पदार्थ के 1 मीटर लम्बे तथा 1 मीटर अनुप्रस्थ-परिच्छेद के क्षेत्रफल वाले तार के प्रतिरोध के बराबर होता है।”

मात्रक-ओम-मीटर या ओम-सेमी
विशिष्ट प्रतिरोध ρ तथा विशिष्ट वैद्युत-चालकता σ में सम्बन्ध σ =1/ρ

Some Important Physics Questions

प्रश्न 1- हाइड्रोजन परमाणु की nवीं कक्षा में इलेक्ट्रॉन की ऊर्जा Eₙ= -13.6/n² इलेक्ट्रॉन वोल्ट (eV) सूत्र से दी जाती है। इसके आधार पर
(i) n=1,2,3,4,5,6 तथा ० के लिए विभिन्न ऊर्जा स्तरों की खींचिए।
(ii) विभिन्न इलेक्ट्रॉनिक संक्रमणों द्वारा हाइड्रोजन परमाणु के उत्सर्जन स्पेक्ट्रम की लाइमन तथा बॉमर श्रेणियों को प्रदर्शित कीजिए।(2015, 17)

Leave a Comment