82 / 100

सार्वत्रिक गुरुत्वाकर्षण नियतांक G की परिभाषा

सार्वत्रिक गुरुत्वाकर्षण नियतांक G की परिभाषा

प्रश्न – सार्वत्रिक गुरुत्वाकर्षण नियतांक G की परिभाषा लिखिए । इसका मान तथा मात्रक भी लिखिए।

उत्तर : सार्वत्रिक गुरुत्वाकर्षण नियतांक की परिभाषा तथा मात्रक-न्यूटन के गुरुत्वाकर्षण के नियमानुसार,
F = Gm₁m₂/r²
अथवा G=Fr²/m₁m₂
यदि m₁=m₂=1किग्रा, r=1मीटर है, G=F
अतः गुरुत्वाकर्षण नियतांक परिमाण में उस गुरुत्वाकर्षण बल के बराबर होता है जो एकांक दूरी पर रखे एकांक द्रव्यमान वाले दो पिण्डों के बीच कार्य करता है।
इसका मात्रक न्यूटन-मीटर² /किग्रा²
प्रयोगों द्वारा G का मान 6.67 x 10⁻¹¹ न्यूटन-मीटर²/किग्रा² प्राप्त होता है ।

– Latest Physics Questions

  1. विद्युत परिपथ सम्बन्धी किरचॉफ के नियमों को उदाहरण देकर स्पष्ट कीजिए।
  2. रदरफोर्ड के परमाणु मॉडल की व्याख्या कीजिए, तथा इसकी कमियों का उल्लेख कीजिए।
  3. समस्थानिक तथा समभारिक का अर्थ दो-दो उदाहरण देकर समझाइए।
  4. बन्धन ऊर्जा वक्र बनाइए तथा इसके आधार पर निम्नलिखित को स्पष्ट कीजिए
  5. गति क्या है ?
  6. गति की परिभाषा
  7. सरल रेखीय गति किसे कहते है ?
  8. सरल रेखीय गति के उदाहरण

सार्वत्रिक गुरुत्वाकर्षण नियतांक G की परिभाषा

Physics Questions

प्रश्न 1- न्धन ऊर्जा वक्र बनाइए तथा इसके आधार पर निम्नलिखित को स्पष्ट कीजिए

प्रश्न 2- समस्थानिक तथा समभारिक का अर्थ दो-दो उदाहरण देकर समझाइए। (2012, 14, 17, 19, 20)

प्रश्न 3- विभिन्न नाभिकों की बन्धन ऊर्जा प्रति न्यूक्लिऑन संख्या (A) के साथ परिवर्तन, ग्राफ द्वारा निरूपित कीजिए। कारण बताते हुए समझाइए कि क्यों हल्के नाभिकों का सामान्यतः नाभिकीय संलयन होता है? (2014)

Leave a Comment