Class 12 ( Physics )

Class 12 ( Physics )
Class 12 ( Physics )

NCERT Physics Important Question

प्रश्न1 – धारावाही चालक के कारण उत्पन्न चुम्बकीय क्षेत्र की तीव्रता से सम्बन्धित बायो-सेवर्ट नियम की व्याख्या कीजिए। बायो-सेवर्ट नियम की समीकरण से निर्वात् की चुम्बकशीलता का मात्रक एवं विमीय समीकरण निकालिए। (2017) 

प्रश्न2 – बायो-सेवर्ट नियम को शब्दों तथा सूत्र में लिखिए। ( 2011 )

प्रश्न3 – बायो-सेवर्ट नियम का उल्लेख कीजिए। 2013, 17, 18)

प्रश्न4 – किसी धारावाही चालक के कारण उत्पन्न चुम्बकीय क्षेत्र के सम्बन्ध में बायो-सेवर्ट के नियम का उल्लेख कीजिए।

प्रश्न5 – साइक्लोट्रॉन के सिद्धान्त एवं कार्य विधि का संक्षिप्त विवरण दीजिए। साइक्लोट्रॉन की सीमाओं का उल्लेख कीजिए। (2017) 

प्रश्न 6- बाह्य चुम्बकीय क्षेत्र में स्थित चुम्बकीय द्विध्रुव की स्थितिज ऊर्जा का व्यंजक प्राप्त कीजिए। (2017, 19, 20)

प्रश्न 7– एक समान चुम्बकीय क्षेत्र में एक धारा वाही आयताकार कुण्डली लटकायी गई है। इस पर लगने वाले बल युग्म के आघूर्ण का व्यंजक प्राप्त कीजिए। (2017)

प्रश्न 8- एकसमान चुम्बकीय क्षेत्र में रखे एक धारा लूप पर लगने वाले बल आघूर्ण के लिए सूत्र प्राप्त कीजिए

प्रश्न 9- एक वृत्ताकार धारावाही कुण्डली के केन्द्र पर चुम्बकीय क्षेत्र का व्यंजक निगमित कीजिए। (2017, 18)

प्रश्न10 – बायो-सेवर्ट का नियम समझाइए। इस नियम का उपयोग करके एक वृत्ताकार धारावाही कुण्डली के केन्द्र पर चुम्बकीय क्षेत्र के व्यंजक का निगमन कीजिए। (2014, 16, 19, 20)

प्रश्न11 – ऐम्पियर का परिपथीय नियम क्या है? ऐम्पियर के परिपथीय नियम का उपयोग करके एक अनन्त लम्बाई के सीधे धारावाही चालक के कारण उत्पन्न चुम्बकीय क्षेत्र का सूत्र स्थापित कीजिए।(2014, 19, 20)

प्रश्न12 – ऐम्पियर के परिपथीय नियम का उपयोग करके अनन्त लम्बाई के सीधे धारावाही तार के निकट किसी बिन्दु पर चुम्बकीय क्षेत्र की तीव्रता ज्ञात कीजिए। (2015)

प्रश्न13 – दो समान्तर धारावाही चालकों के बीच लगने वाले बल F/L=μ₀i₁i₂/2πr न्यूटन/मीटर के लिए सूत्र व्युत्पन्न कीजिए। उपर्युक्त L सूत्र के आधार पर धारा के एक ऐम्पियर की परिभाषा दीजिए।(2017, 19)

प्रश्न14 – दो समान्तर धारावाही चालकों के बीच कार्य करने वाले बल का सूत्र ज्ञात कीजिए। (2012, 17, 18)

प्रश्न15 – दो समान्तर धारावाही चालकों के बीच लगने वाले बल के लिए सूत्र स्थापित कीजिए। इसके आधार पर वैद्युत धारा के मात्रक ऐम्पियर की परिभाषा दीजिए। (2013, 20)

प्रश्न 16- L मीटर लम्बाई के दो समान्तर तारों, जिनके मध्य की दूरीrमीटर है तथा जिनमें i₁और i₂ ऐम्पियर की विद्युत धाराएँ प्रवाहित हैं, के  मध्य प्रति एकांक लम्बाई पर बल का सूत्र  F/L=μ₀i₁i₂/2πr व्युत्पादित कीजिए।(2015)

प्रश्न17 – दो समान्तर धारावाही लम्बे चालकों के बीच चुम्बकीय बल के लिए एक व्यंजक प्राप्त कीजिए। इसकी सहायता से एक ऐम्पियर की परिभाषा भी दीजिए। (2019)

प्रश्न 18- दूरी तथा विस्थापन से क्या तात्पर्य है ? ये कैसी राशियाँ हैं? इनके मात्रक भी लिखिए।दूरी तथा विस्थापन में क्या अन्तर है ? उदाहरण देकर स्पष्ट कीजिए।

प्रश्न 19- आवश्यक सिद्धान्त देते हुए चल कुण्डली गैल्वेनोमीटर की संरचना तथा कार्यविधि का वर्णन कीजिए। (2014)  

प्रश्न 20- चल कुण्डली धारामापी का सिद्धान्त एवं कार्यविधि का वर्णन कीजिए। (2017, 18)

प्रश्न 21- निम्नलिखित चल कुण्डली धारामापी का सिद्धान्त लिखिए एवं उसकी धारा सुग्राहिता का व्यंजक ज्ञात कीजिए।

प्रश्न 22- सिद्ध कीजिए कि चल कुण्डल धारामापी में प्रवाहित धारा उसमें उत्पन्न विक्षेप के अनुक्रमानुपाती होती है। (2019, 20)

प्रश्न23- हाइगेन्स के द्वितीयक तरंगिकाओं के सिद्धान्त के आधार पर परावर्तन के नियमों की व्याख्या कीजिए। (2012, 14)

प्रश्न24 – व्यतिकरण तथा विवर्तन में क्या अन्तर है ?

प्रश्न25 – प्रकाश के व्यतिकरण तथा विवर्तन की घटनाओं में अन्तर के लिए किसी एक विशिष्टता का उल्लेख कीजिए। (2014)

प्रश्न26- व्यतिकरण से आप क्या समझते हैं?| प्रकाश के व्यतिकरण के लिए आवश्यक शर्ते लिखिए। (2020)

प्रश्न27- दो प्रकाश पुंजों द्वारा बनी व्यतिकरण फ्रिन्जों को प्राप्त करने के लिये आवश्यक प्रतिबन्धों का उल्लेख कीजिए। (2010, 12)

प्रश्न28- प्रकाश के व्यतिकरण के लिए आवश्यक शर्ते बताइए। (2016)

प्रश्न29- प्रकाश के व्यतिकरण से क्या तात्पर्य है?| इसके लिए आवश्यक प्रतिबन्ध क्या हैं? (2011, 12, 13, 14, 15, 16, 19)

प्रश्न30 – तरंगों के संपोषी तथा विनाशी व्यतिकरण के लिए आवश्यक शर्ते बताइए। (2010, 13, 18)

प्रश्न31- तरंगाग्र किसे कहते हैं? हाइगेन्स के द्वितीयक तरंगिकाओं का सिद्धान्त लिखिए। (2011, 12, 13, 18)

प्रश्न32 – विभवमापी का सिद्धान्त चित्र खींचकर समझाइए। यह वोल्टमीटर से श्रेष्ठ क्यों है? (2017, 18)

प्रश्न 33 – बोर मॉडल के आधार पर हाइड्रोजन परमाणु का ऊर्जा स्तर आरेख खींचिए और स्पेक्ट्रमी रेखाओं के लाइमन, बामर एवं पाश्चन श्रेणियों की उत्पत्ति समझाइए। बामर श्रेणी की प्रथम रेखा का तरंगदैर्घ्य भी परिकलित कीजिए। (2018, 20)

प्रश्न34 – दो तरंगों के व्यतिकरण से उत्पन्न परिणामी तीव्रता का व्यंजक लिखिए।

प्रश्न35 – a₁ तथा a₂ आयामों तथा समान आवृत्ति की तरंग के अध्यारोपण से उत्पन्न परिणामी तरंग के आयाम के लिए व्यंजक प्राप्त कीजिए जहाँ तरंग के बीच कलान्तर है। [2019, 20]

प्रश्न36- एक विभवमापी की संरचना तथा कार्यविधि का वर्णन कीजिए।

प्रश्न 37- हाइगेन्स के तरंग संचरण सम्बन्धी सिद्धान्त की व्याख्या कीजिए।

प्रश्न 38- हाइगेन्स के द्वितीयक तरंगिकाओं के सिद्धान्त की विवेचना कीजिए।

प्रश्न39- हाइड्रोजन परमाणु की nवीं कक्षा में इलेक्ट्रॉन की ऊर्जा Eₙ= -13.6/n² इलेक्ट्रॉन वोल्ट (eV) सूत्र से दी जाती है। इसके आधार पर
(i) n=1,2,3,4,5,6 तथा ० के लिए विभिन्न ऊर्जा स्तरों की खींचिए।
(ii) विभिन्न इलेक्ट्रॉनिक संक्रमणों द्वारा हाइड्रोजन परमाणु के उत्सर्जन स्पेक्ट्रम की लाइमन तथा बॉमर श्रेणियों को प्रदर्शित कीजिए।(2015, 17)

प्रश्न40- मुक्त इलेक्ट्रॉनों के अनुगमन वेग से आप क्या समझते हैं? इलेक्ट्रॉन अनुगमन वेग के सिद्धान्त द्वारा ओम के नियम का निगमन कीजिए।

प्रश्न41- किसी चालक के विभवान्तर तथा मुक्त इलेक्ट्रॉनों के अपवाह (अनुगमन) वेग के बीच का सम्बन्ध स्थापित कीजिए। (2012, 18)

प्रश्न42- किसी चालक के बीच विभवान्तर तथा मुक्त इलेक्ट्रॉनों के अनुगमन वेग के बीच सम्बन्ध स्थापित कीजिए। (2013)

प्रश्न43- मुक्त इलेक्ट्रॉनों के ‘अपवाह वेग’ से आप क्या समझते हैं? मुक्त इलेक्ट्रॉनों के अपवाह वेग के आधार पर ओम के नियम की व्याख्या कीजिए। (2014, 18, 19)

प्रश्न44- किसी धातु में मुक्त इलेक्ट्रॉनों के अपवाह वेग से क्या तात्पर्य है? मुक्त इलेक्ट्रॉनों के अपवाह वेग के आधार पर ओम का नियम व्युत्पन्न कीजिए।(2017, 18)

प्रश्न46 – विशिष्ट प्रतिरोध की परिभाषा दीजिए तथा मात्रक बताइए। विशिष्ट प्रतिरोध तथा विशिष्ट वैद्युत-चालकता में क्या सम्बन्ध है?

प्रश्न47 – वैद्युत परिपथ के लिए किरचॉफ के नियमों का उल्लेख कीजिए और उनको परिपथ बनाकर समझाइए। (2012, 18)

प्रश्न 48- किरचॉफ का धारा नियम लिखिए तथा धारा के लिए चिह परिपाटी भी बताइए।(2018)

प्रश्न 49- धारा व वोल्टता सम्बन्धी किरचॉफ का नियम लिखिए। (2015, 17)

प्रश्न50 – विद्युत परिपथ सम्बन्धी किरचॉफ के नियमों को उदाहरण देकर स्पष्ट कीजिए। (2020)

प्रश्न51- वैद्युत परिपथ के लिए किरचॉफ के नियमों का उल्लेख कीजिए तथा उनकी सहायता से किसी व्हीटस्टोन सेतु के सन्तुलित होने का सूत्र P/Q=R/S व्युत्पादित कीजिए, जहाँ संकेतों का सामान्य अर्थ है।

प्रश्न52 – विभवमापी का सिद्धान्त चित्र खींचकर समझाइए। यह वोल्टमीटर से श्रेष्ठ क्यों है?

प्रश्न53 – हम सेल का विद्युत वाहक बल नापने के लिए वोल्टमीटर की अपेक्षा विभवमापी को वरीयता क्यों देते हैं? 2014

प्रश्न54 – विभवमापी का सिद्धान्त समझाइए। इसकी सुप्राहिता किस प्रकार बढ़ाई जा सकती है? (2015, 18)

प्रश्न 55- बोर मॉडल के आधार पर हाइड्रोजन परमाणु का ऊर्जा स्तर आरेख खींचिए और स्पेक्ट्रमी रेखाओं के लाइमन, बामर एवं पाश्चन श्रेणियों की उत्पत्ति समझाइए। बामर श्रेणी की प्रथम रेखा का तरंगदैर्घ्य भी परिकलित कीजिए। (2018, 20)

प्रश्न 56- हाइड्रोजन परमाणु में ऊर्जा स्तरों की Eₙ= -13.6/n² ev से व्यक्त किया जाता है। ऊर्जा-स्तर आरेख खींचकर Hα तथा Gγ संक्रमणों को दर्शाइए तथा उनकी तरंगदैर्घ्य भी ज्ञात कीजिए। (2018)

प्रश्न 57- प्रिज्म के पदार्थ के लिए अपवर्तनांक का सूत्र अल्पतम विचलन कोण तथा प्रिज्म कोण के पदों में निगमित कीजिए। (2010, 11, 19)

प्रश्न 58- n=sin{(A+δₘ/2)/sin(A/2) का निगमन कीजिए। यहाँ n प्रिज्म का अपवर्तनांक, A प्रिज्म का कोण तथा δₘ अल्पतम विचलन है।

प्रश्न 59- किसी प्रिज्म के पदार्थ के अपवर्तनांक के लिये, प्रिज्म के कोण तथा न्यूनतम विचलन कोण के पदों में एक व्यंजक निकालिए।।2012)

प्रश्न 60- यदि किसी पतले प्रिज्म का प्रिज्म कोण Aबहुत कम हो तो दर्शाइये कि न्यूनतम विचलन कोण δₘ=(n-1)A होगा, जहाँ प्रिज्म के पदार्थ का अपवर्तनांक n है। (2018)

प्रश्न61- विभिन्न नाभिकों की बन्धन ऊर्जा प्रति न्यूक्लिऑन संख्या (A) के साथ परिवर्तन, ग्राफ द्वारा निरूपित कीजिए। कारण बताते हुए समझाइए कि क्यों हल्के नाभिकों का सामान्यतः नाभिकीय संलयन होता है? (2014)

प्रश्न62 – p-n सन्धि डायोडों का प्रयोग करते हुए पूर्ण-तरंग दिष्टकारी का परिपथ चित्र बनाइए। इसकी कार्यविधि समझाइए।

प्रश्न63 – परिपथ आरेख खींचकर समझाइए कि एक सन्धि डायोड पूर्ण तरंग दिष्टकारी की भाँति कैसे कार्य करता है ? (2011, 19)

प्रश्न 64- p-n सन्धि डायोड का उपयोग पूर्ण तरंग दिष्टकारी के रूप में समझाइए। सम्बन्धित परिपथ भी खींचिए। (2013, 18, 19)

प्रश्न65 – परिपथ आरेख खींचकर pn सन्धि डायोड की पूर्ण तरंग दिष्टकारी के रूप में कार्यविधि समझाइए। (2013, 14, 18, 19)

प्रश्न 66- प्रत्यावर्ती धारा को दिष्ट धारा में परिवर्तित करने हेतु पूर्ण तरंग दिष्टकारी का परिपथ चित्र बनाकर इसकी क्रिया विधि संक्षेप में समझाइए। (2019, 20)

प्रश्न 67 p-n सन्धि डायोड का उपयोग करके अर्द्धतरंग दिष्टकारी का परिपथ चित्र खींचिए तथा इसकी कार्यविधि समझाइए। (2011, 17)

प्रश्न 68- p-n सन्धि का उपयोग करके अर्द्धतरंग दिष्टकारी का परिपथ चित्र खींचिए। निवेशी तथा निर्गत वोल्टताओं के तरंगरूप दिखाइए। क्या निर्गत वोल्टता शुद्ध दिष्ट वोल्टता होती है? (2016)

प्रश्न 69- p-n सन्धि डायोड को अर्द्धतरंग दिष्टकारी के रूप में कैसे प्रयोग में लाया जाता है? सरल परिपथ आरेख बनाकर कार्यविधि समझाइए। निवेशी तथा निर्गत वोल्टताओं के तरंग-रूप दिखाइए। (2011, 13, 14, 20)

प्रश्न 70- p-n सन्धि डायोड क्या होता है? परिपथ आरेख खींचकर सन्धि डायोड का अर्द्ध तरंग दिष्टकारी के रूप में कार्यविधि समझाइए। निवेशी तथा निर्गत वोल्टताओं के तरंग रूपों को दर्शाइए। (2016)

प्रश्न 71- p-n सन्धि के लिए रूसी स्तर तथा रोधिका विभव की व्याख्या कीजिए| p-n संधि डायोड अर्द्ध तरंग दिष्टकारी के रूप में कैसे प्रयुक्त होती है।(2020)

प्रश्न 72- क्रान्तिक कोण तथा पूर्ण आन्तरिक परावर्तन से क्या अभिप्राय है ? सिद्ध कीजिए कि n=1/ sinc , जहाँ संकेतों के सामान्य अर्थ हैं।

प्रश्न 73- सिद्ध कीजिए कि सघन माध्यम का अपवर्तनांक क्रान्तिक कोण की ज्या (sine) का व्युत्क्रमानुपाती होगा। (2015, 17)

प्रश्न74- प्रकाश के अपवर्तन से आप क्या समझते हैं? इसके नियम लिखिए।

प्रश्न75 – सौर सेल की कार्य प्रणाली समझाइए तथा उसके उपयोग लिखिए। (2019, 20)

प्रश्न76-पूर्ण आन्तरिक परावर्तन से आप क्या समझते हैं? इसकी आवश्यक शर्ते लिखिए। (2015, 18)

प्रश्न 77-पूर्ण आन्तरिक परावर्तन की व्याख्या कीजिए तथा क्रान्तिक कोण के महत्त्व को रेखांकित कीजिए। (2015)

प्रश्न78- “कार्य फलन’ तथा ‘देहली आवृत्ति की व्याख्या कीजिए। (2018, 19)

प्रश्न 79- द्रव्य तरंगें क्या हैं? द्रव्य तरंगों की तरंगदैर्घ्य का सूत्र लिखिए।(2017,18, 20)

प्रश्न 80- लूई डी-ब्रॉग्ली के द्रव्य तरंग की अवधारणा स्पष्ट कीजिए। द्रव्य तरंगों के तरंगदैर्घ्य का सूत्र स्थापित कीजिए।(2011, 16, 17, 19)

प्रश्न 81- डी-ब्रॉग्ली तरंगें क्या हैं ? डी-ब्रॉग्ली तरंगदैर्घ्य के लिये व्यंजक लिखिए। (2010, 17, 18)

प्रश्न 82- m द्रव्यमान का एक कण वेग से गतिमान है। कण के साथ सम्बन्ध डी-ब्रॉग्ली तरंगदैर्घ्य का सूत्र लिखिए। (2012, 15)

प्रश्न 83 – द्रव्य तरंगें क्या हैं? डी-ब्रॉग्ली तरंगदैर्घ्य के लिए सूत्र लिखिए। इन तरंगों का प्रायोगिक सत्यापन करने वाले प्रयोग का नाम लिखिए। (2015, 18)

प्रश्न 84 – द्रव्य तरंगे क्या होती हैं? डी-ब्रॉग्ली तरंगदैर्घ्य का व्यंजक लिखिए। (2016)

प्रश्न 85 – विकिरण सम्बन्धी प्लांक की परिकल्पना समझाइए। इसके द्वारा फोटॉन के गतिमान द्रव्यमान का व्यंजक प्राप्त कीजिए। फोटॉन संवेग क्या होगा?

प्रश्न 86 – फोटॉन किसे कहते हैं ? इसके गतिज द्रव्यमान एवं संवेग का सूत्र लिखिए। (2012)

प्रश्न 87 – फोटॉन के गतिज द्रव्यमान का सूत्र लिखिए। (2012)

प्रश्न 88 – फोटॉन के विराम द्रव्यमान तथा गतिक द्रव्यमान से आप क्या समझते हैं? फोटॉन का संवेग p= h/λ निगमित कीजिए जहाँ h प्लांक नियतांक तथा λ फोटॉन की तरंगदैर्घ्य है।

प्रश्न 89 – क्वाण्टम मॉडल के आधार पर प्रकाश-वैद्युत प्रभाव की व्याख्या कीजिए तथा आइन्स्टीन के प्रकाश-वैद्युत समीकरण को व्युत्पादित कीजिए। (2011, 15, 18)

प्रश्न 90 -हाइड्रोजन परमाणु के लिए ऊर्जा-स्तर आरेख खींचिए तथा स्पेक्ट्रमी रेखाओं की लाइमन, बॉमर तथा पाश्चन श्रेणियों की उत्पत्ति समझाइए। इन श्रेणियों में से कौन-सी स्पेक्ट्रम के दृश्य भाग में के मिलती है? (2015, 17, 18)

प्रश्न 91 – बोर मॉडल के आधार पर हाइड्रोजन परमाणु का ऊर्जा स्तर आरेख खींचिए और स्पेक्ट्रमी रेखाओं के लाइमन, बामर एवं पाश्चन श्रेणियों की उत्पत्ति समझाइए। बामर श्रेणी की प्रथम रेखा का तरंगदैर्घ्य भी परिकलित कीजिए। (2018, 20)

प्रश्न 92- “कार्य फलन’ तथा ‘देहली आवृत्ति की व्याख्या कीजिए। (2018, 19)

प्रश्न 93- किसी धातु पृष्ठ के निरोधी विभव का परिवर्तन आपतित विकिरण की आवृत्ति के साथ ग्राफ में दर्शाइए। ‘देहली आवृत्ति’ की परिभाषा इससे प्लांक नियतांक ज्ञात कीजिए। (2020)

प्रश्न 94- क्रान्तिक कोण तथा पूर्ण आन्तरिक परावर्तन से क्या अभिप्राय है ? सिद्ध कीजिए कि n=1/ sinc , जहाँ संकेतों के सामान्य अर्थ हैं।

प्रश्न 95 -पूर्ण आन्तरिक परावर्तन की व्याख्या कीजिए तथा क्रान्तिक कोण के महत्त्व को रेखांकित कीजिए। (2015)

प्रश्न 96 -पूर्ण आन्तरिक परावर्तन से आप क्या समझते हैं? इसकी आवश्यक शर्ते लिखिए। (2015, 18)

प्रश्न 97- बन्धन ऊर्जा वक्र बनाइए तथा इसके आधार पर निम्नलिखित को स्पष्ट कीजिए

प्रश्न 98 – समस्थानिक तथा समभारिक का अर्थ दो-दो उदाहरण देकर समझाइए। (2012, 14, 17, 19, 20)

प्रश्न 99 – विभिन्न नाभिकों की बन्धन ऊर्जा प्रति न्यूक्लिऑन संख्या (A) के साथ परिवर्तन, ग्राफ द्वारा निरूपित कीजिए। कारण बताते हुए समझाइए कि क्यों हल्के नाभिकों का सामान्यतः नाभिकीय संलयन होता है? (2014)

प्रश्न 100 – विभिन्न नाभिकों की बन्धन ऊर्जा प्रति न्यूक्लिऑन संख्या (A) के साथ परिवर्तन, ग्राफ द्वारा निरूपित कीजिए। कारण बताते हुए समझाइए कि क्यों हल्के नाभिकों का सामान्यतः नाभिकीय संलयन होता है? (2014)

प्रश्न 101 – बन्धन ऊर्जा वक्र बनाइए तथा इसके आधार पर निम्नलिखित को स्पष्ट कीजिए:
(i) नाभिकीय विखण्डन,
(ii) नाभिकीय संलयन (2019, 20)

Class 12 ( Physics ), Class 12 ( Physics ) , Class 12 ( Physics ) , Class 12 ( Physics ) , Class 12 ( Physics ) , Class 12 ( Physics ) , Class 12 ( Physics ) , Class 12 ( Physics ) , Class 12 ( Physics ) , Class 12 ( Physics ) , Class 12 ( Physics ) , Class 12 ( Physics ) , Class 12 ( Physics ) , Class 12 ( Physics )

Short NCERT Physics Question Answer :-

Class 12 ( Physics ),Class 12 ( Physics ),Class 12 ( Physics ),Class 12 ( Physics ),Class 12 ( Physics ),Class 12 ( Physics ),Class 12 ( Physics )

Leave a Comment