what is RNA in hindi | rna kya hota hai free pdf 2022

81 / 100

what is RNA in hindi

RNA की संरचना का वर्णन कीजिए। ये कितने प्रकार के होते हैं? RNA तथा DNA में अन्तर लिखिए।

RNA की संरचना का वर्णन कीजिए

[Ribonucleic Acid]
RNA केन्द्रक के अन्दर केन्द्रि (Nucleolus) में मिलता है । इसके अतिरिक्त, यह राइबोसोम, अन्तःप्रद्रव्यी जालिका (endoplasmic rcticulum) तथा मुक्त रूप से कोशिकाद्रव्य में भी मिलता है । प्रायः पौधों, जन्तुओं एवं विषाणुओं में एकरज्जुकीय (single stranded) RNA पाया जाता है। रिओवाइरस (Rheovirus), वुन्ड ट्यूमर वाइरस (wound tumor virus) में द्विरज्जुकीय (double stranded) RNA पाया जाता है। RNA की पॉलीन्यूक्लियोटाइड श्रृंखला का निर्माण भी DNA की एक पॉलीन्यूक्लियोटाइड शृंखला की तरह कई न्यूक्लियोटाइ इकाइयों द्वारा होता है। सामान्यतया RNA आनुवंशिक पदार्थ (genetic material) नहीं है।

what is RNA in hindi
what is RNA in hindi | rna kya hota hai free pdf 2022

यह मुख्यतः प्रोटीन संश्लेषण का महत्त्वपूर्ण कार्य करता है न्यूक्लियोटाइड्स के कई अणु परस्पर मिलकर एकसूत्री श्रृंखला बनाते हैं । न्यूक्लियोटाइड्स का निर्माण राइबोस शर्करा, कार्बनिक बेस तथा फॉस्फोरिक अम्ल से होता है। RNA की श्रृंखला में एडिनीन (A), ग्वानीन (G),साइटोसीन (C) तथा यूरेसिल (U) के अणु पार्श्व में शर्करा से जुड़े रहते हैं अर्थात् RNA में प्यूरीन बेस-एडिनीन व ग्वानीन तो DNA के समान होते हैं, किन्तु DNA में पाए जाने वाले पिरिमिडीन क्षारों-साइटोसीन व थायमीन- में से थायमीन के स्थान पर यूरेसिल होता है। RNA की एकरज्जुकीय पॉलीन्यूक्लियोटाइड श्रृंखला कहीं-कहीं पर वलयित या कुण्डलित हो जाती है । RNA का अणु छोटा होता है । अतः इसका अणुभार DNA के अणुभार से कम होता है ।

RNA के प्रकार (Types of RNA)

RNA निम्नलिखित तीन प्रकार के होते हैं
(i) संदेशवाहक RNA (Messenger RNA = m-RNA) : इसका निर्माण DNA के द्वारा केन्द्रक में होता है । यह DNA में स्थित आनुवंशिक आदेशों को राइबोसोम तक पहुँचाता है ।
(ii) राइबोसोमल RNA (Ribosomal RNA = r-RNA) : यह राइबोसोम में पाया जाता है तथा राइबोसोम के निर्माण में भाग लेता है।
(iii) स्थानान्तरण RNA (Transfer RNA t-RNA) : प्रत्येक अमीनो अम्ल के स्थानान्तरण के लिए एक स्वतन्त्र t-RNA होता है ये स्वतन्त्र रूप से कोशिकाद्रव्य में रहते हैं तथा अमीनो अम्लों को अपने साथ ले जाते हैं।


कार्य (Function) : DNA के नियन्त्रण में तथा RNA राइबोसोम पर पहुंचकर प्रोटीन संश्लेषण का कार्य करते हैं । इस प्रकार आर. एन. ए. आनुवंशिक सूचनावाहक होता है

what is RNA in hindi | rna kya hota hai free pdf 2022,

प्रोटीन संश्लेषण प्रक्रिया का वर्णन कीजिए। इसमें RNA का क्या योगदान है ?
उत्तर: प्रोटीन संश्लेषण (Protein synthesis) प्रोटीन संश्लेषण के लिए राइबोसोम्स (ribosomes) महत्त्वपूर्ण कोशिकांग (organelles) है। प्रोटीन संश्लेषण का नियन्त्रण जीन (gene) द्वारा होता हैं। जीन पर स्थित आनुवंशिक सूचनाएँ RNA द्वारा प्रोटीन संश्लेषण के रूप में अभिव्यक्त होती हैं । प्रोटीन संश्लेषण की प्रक्रिया निम्नलिखित दो चरणों में पूर्ण होती है
(i) अनुलेखन (Transcription),
(ii) अनुलिपिकरण (Translation) ।

(i) अनुलेखन (Transcription) : इस प्रक्रिया में DNA से RNA का संश्लेषण होता है । यह प्रक्रिया RNA पॉलीमरेज (RNA polymerase) की उपस्थिति में होती है । DNA के दोनों रज्जुकों में से केवल एक रज्जुक (प्रधान रज्जुक) पर ही सन्देशवाहक RNA (m-RNA) अणु का निर्माण होता है। प्रधान रज्जुक एक फर्मे की तरह कार्य करता है । प्रधान रज्जुक के क्षारक क्रमों के अनुसार RNA रज्जुक पर क्षारक आते हैं,लेकिन एडिनीन (adenine) क्षारक के स्थान पर यूरेसिल (uracil) क्षारक आता है। DNA से m-RNA प्रोटीन संश्लेषण हेतु कोडॉन (codon) धारण करके राइबोसोम्स की सतह पर स्थापित
होकर टेम्प्लेट (template) बनाता है ।

स्थानान्तरण आर. एन. ए. (t-RNA) विशेष प्रकार के अमीनो अम्लों को कोशाद्रव्य से राइबोसोम्स के टेम्प्लेट पर स्थित m-RNA पर पहुंचाता है। अमीनो अम्ल अपने प्रतिकोडॉन (anticodon) के कारण राइबोसोम्स पर स्थित m-RNA के कोडॉन से जुड़ते हैं । इस कार्य में प्रयुक्त ऊर्जा ATP से प्राप्त होती है । t-RNA पर प्रारम्भन कोड UAC तथा m-RNA पर समापन कोड UAA, UAG, UGA होता है । समापन कोड के कारण नया अमीनो अम्ल श्रृंखला में नहीं जुड़ता।

(ii) अनुलिपिकरण या अनुवादन (Translation) : राइबोसोम की सतह पर टेम्प्लेट से लगे अमीनो अम्ल एक-दूसरे से पेप्टाइड बन्धकों (peptide bonds) द्वारा जुड़कर पॉलीपेप्टाइड श्रृंखला (Polypeptide chain) बनाते हैं । इस क्रिया को अनुलेखन (translation) कहते हैं ।

अमीनो अम्लों के परस्पर मिलने से बनी पॉलीपेप्टाइड श्रृंखला राइबोसोम्स से पृथक होकर प्रोटीन अणु का निर्माण करती है । यह जैविक क्रियाओं में भाग लेने लगता है ।
प्रोटीन संश्लेषण प्रक्रिया में m-RNA, t-RNA तथा r-RNA तीनों प्रकार के अणु भाग लेते हैं। अनुलिपिकरण की क्रिया राइबोसोमों (ribosomes) पर होती है। सन्देशवाहक आर. एन. ए. (m-RNA) अणु पर उपस्थित तीन क्षारकों के क्रम को आनुवंशिक कोड (genetic code) कहते हैं। आनुवंशिक कोड पॉलीपेप्टाइड श्रृंखला में अमीनो अम्लों के क्रम का निर्धारण करता है।

what is RNA in hindi | rna kya hota hai free pdf 2022,what is RNA in hindi | rna kya hota hai free pdf 2022

Important Questions………

what is RNA in hindi